You are here
Home > Blogs > क्या होता है कारो में FWD,RWD,AWD और Four wheel drive

क्या होता है कारो में FWD,RWD,AWD और Four wheel drive

What is drive train and its types FWD,AWD,AWD,Four Wheel Drive

आप road पर कई वाहन देखते होंगे और सभी वाहनों का काम अलग अलग होता है इनमे से कुछ सवारी गाडी होती है और कुछ माल ढुलायी के काम आती है इस वाहनों में ज़रूरत के अनुसार इंजन की पोजीशन और इंजन की क्षमता रखी जाती है और इसी के साथ बदलती है इनकी Powertrain

Advertisement
तो इस लेख में हम आपको बतायेगे की वाहन में Powertrain क्या होती है और Powertrain के कितने प्रकार होते है-

Read Also: कार खरीदने से पहले ध्यान देने योग्य 5 बाते

एक स्टैण्डर्ड वेहिकल में गाड़ी को चलाने के लिए जो पॉवर चाहिए वह इंजन प्रदान करता है और इसी पॉवर से गाडी चलती है, इंजन की पॉवर को wheel तक पहुचाने के लिए जो अरेंजमेंट या system लगाया जाता है उसे Powertrain कहते है. एक Powertrain में क्लच, गियरबॉक्स, ट्रांसफर केस, डिफरेंशियल, एक्सेल, प्रोपेलर शाफ़्ट मुख्य पार्ट होते है, Powertrain के मुख्यतः 4 प्रकार होते है-

1.Front Wheel Drive(FWD)-

Front wheel drive जिसे आमतौर पर FWD कहा जाता है आजकल की कारो में पाई जाने वाली सबसे आम ड्राइव ट्रेन है 

Front Wheel Drive
FWD www.askmeauto.com

Front wheel drive में इंजन की पॉवर केवल आगे के पहियों में दी जाती है और पीछे के पहिये फ्री मूव करते है.इसमें इंजन के साथ एक ट्रांसएक्सेल यूनिट लगायी जाती है जिसमे क्लच, गियरबॉक्स और डिफरेंशियल शामिल होता है यानि Front wheel drive में इंजन के साथ ट्रांसफर केस और ट्रांसएक्सेल यूनिट के साथ सीधी फ्रंट एक्सेल आ के जुडती है. अतः इसमें केवल आगे के पहिये घूमते है.इस प्रकार के सिस्टम में इंजन से पॉवर क्लच में जाती है और यदि क्लच संलग्न है आगे पॉवर गियरबॉक्स में जायेगा गियरबॉक्स स्पीड को कम करके टार्क को बढ़ाएगा और आगे पॉवर डिफरेंशियल से होते हुए व्हील तक जाएगी.

Read Also: 5 Road safety tips for safe driving

2.Rear Wheel Drive(RWD)-  

Rear Wheel Drive जिसे RWD भी कहा जाता है, इसमें इंजन की पॉवर केवल पिछले पहियों में दी जाती है  इस प्रकार की ड्राइव ट्रेन में इंजन फ्रंट में लगा रहता है, इंजन के बाद पॉवर ट्रेन में क्लच,उसके बाद गियर बॉक्स लगता है. गियरबॉक्स के साथ युनिवर्सल जॉइंट लगाया जाता है जिसमे से प्रोपेल्लर शाफ़्ट कनेक्ट होती है.

Rear Wheel Drive (RWD)
RWD www.askmeauto.com

अब इसी प्रोपेलर शाफ़्ट के दुसरे सिरे में भी एक युनिवर्सल जॉइंट लगी होगी, युनिवर्सल जॉइंट, डिफरेंशियल से जुडी होती है 

Rear Wheel Drive सिस्टम में पॉवर इंजन से क्लच में होते हुए गियरबॉक्स में जायेगा और गियरबॉक्स, प्रोपेलर शाफ़्ट से होते हुए इस पॉवर को डिफरेंशियल में भेजेगा, डिफरेंशियल से दो रियर एक्सेल निकलेगी जो कि गाडी के पहिये को घुमाएगी.

3. All Wheel Drive(AWD)-

All Wheel Drive जिसे बोलचाल की भाषा में AWD कहा जाता है इस प्रकार के सिस्टम में इंजन की पॉवर चारो पहियों में दी जाती है. इस प्रकार की ड्राइव ट्रेन में इंजन फ्रंट में माउंट किया हुआ होगा जिससे क्लच जुडा हुआ होगा अब क्लच के बाद आगे गियरबॉक्स लगा हुआ होता है गियरबॉक्स जुडा हुआ होता है ट्रान्सफर केस से जहा से दो प्रोपेलर शाफ़्ट निकलती है. ट्रान्सफर केस से एक प्रोपेलर शाफ़्ट फ्रंट डिफरेंशियल में जाएगी और दूसरी प्रोपेलर शाफ़्ट रियर डिफरेंशियल से जुडी हुई होती है जहा के पॉवर आगे एक्सेल में जाती है और एक्सेल पहियों को घुमाता है. इस प्रकार के व्हीकल्स में कोई विकल्प नही होता की पॉवर 2 पहियों में देनी है या चारो पहियों में.

4.Four Wheel Drive(4WD)-  

Four wheel drive जिसे 4WD के रूप में जाना जाता है इस प्रकार की ड्राइव ट्रेन में इंजन की पॉवर को चारो पहियों में सप्लाई करने का आप्शन दिया जाता हैं

Four Wheel Drive
Four Wheel Drive www.askmeauto.com

Four wheel drive में इंजन फ्रंट में माउंट किया हुआ होगा जिससे क्लच जुडा हुआ होगा अब क्लच के बाद आगे गियरबॉक्स लगा हुआ होता है गियरबॉक्स जुडा हुआ होता है ट्रान्सफर केस से दो प्रोपेलर शाफ़्ट निकलती है जहा से एक प्रोपेलर शाफ़्ट फ्रंट डिफरेंशियल में जाएगी और दूसरी प्रोपेलर शाफ़्ट रियर डिफरेंशियल से जुडी हुई होती है जहा के पॉवर आगे एक्सेल में जाती है और एक्सेल पहियों को घुमाता है.

Four wheel drive में आपको विकल्प दिया जाता है की आपको पॉवर 2 पहियों में देनी है या चारो पहियों में, आमतौर पर इस ड्राइव ट्रेन में पीछे के पहिये हमेशा इंजन से कनेक्ट रहते है और आगे के पहियों में विकल्प दिया जाता है की आपको इसे कनेक्ट करना है या नही

 

Top