You are here
Home > Blogs

What is Clutch & Types of Clutches in Hindi

What-Is-Clutch-and-types-of-clutch

Types of Clutches के बारे में जानने से पहले आपको यह जानना चाहिए की क्लच क्या है और क्लच की आवश्यकता हमको क्यू पड़ती है। What is Clutch? सीधे शब्दों में कहे तो क्लच एक यांत्रिक उपकरण है जो विशेष रूप से ड्राइविंग शाफ्ट(Driving shaft) से चालित शाफ्ट(Driven Shaft) तक पावर ट्रांसमिशन को Engage या Disengage करता है। सरलतम एप्लिकेशन में, क्लच दो घूर्णन शाफ्ट (ड्राइव शाफ्ट और ड्रिविन शाफ्ट) को डिस्कनेक्ट या कनेक्ट करते हैं। कार या अन्य वाहन की बात करे तो, एक शाफ्ट एक इंजन या अन्य पावर यूनिट से जुड़ा होता है जिसे ड्राइविंग शाफ्ट( Driving shaft) कहते है, और दूसरी शाफ़्ट जिसे ड्रिविन शाफ्ट (Driven Shaft) कहते है वह गियरबॉक्स से जुडी होती है। इस दोनों

Types of cars: कौन सी कार आपको लेनी चाहिए?

Types of cars

Types of cars: आप कार लेने की सोच रहे है? या आपको ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में जिज्ञाषा है तो अपने हैचबैक, SUV, सेडान, क्रॉसओवर आदि नाम ज़रूर सुने होगे। लेकिन क्या आपको पता है की कार को बॉडी टाइप में कितने भागो मे वर्गीकृत किया जा गया है? बिक्री और विपणन विश्लेषक ऑटो बिक्री के आंकड़ों पर चर्चा करते समय इन वर्गीकरणों का उपयोग करते हैं। हम यहाँ पर आपको बतायेगे कि कारो को कितने भागो में वर्गीकृत किया गया है या सीधे बोले तो Types of cars. 1.Hatchback- Hatchback: प्रतीकात्मक फोटो ये छोटी कारें होती है जिनमे ड्राईवर लगभग 5 सवारियों को बैठाया जा सकता है और इसमें एक विस्तारित बूट स्पेस नहीं होता है। हैचबैक में पीछे का दरवाजा

What is gear? & types of gears

types of gears www.askmeauto.com

What is gear? & types of gears: आज हम चर्चा करेंगे कि गियर क्या है और गियर के प्रकार जैसे Spur Gear, Helical Gear, Bevel Gear, Rack and Pinion Gear, Worm Gear आदि के बारे में भी जानेगे, यह सभी यांत्रिक उपकरणों का मूल घटक है और Automobile इनके बिना अधुरा है- What is Gear?: एक गियर एक मशीन के बेलनाकार या रोलर आकार का घटक होता है जिसकी परिधि पर दांत (टीथ) कटे होते है जो एक शाफ्ट से दूसरे शाफ़्ट में शक्ति ट्रांसमिट करने में प्रयोग होता है यह मुख्य रूप से driving shaft और driven shaft की टार्क और गति में बदलाव के लिए उपयोग किया जाता है। यह बहुत तेज़ गति पर भी पॉवर और टार्क

Difference between 2 stroke and 4 stroke engine in hindi

difference-between-stroke-and-4-stroke-engine-in-hindi www.askmeauto.com

Difference between 2 stroke and 4 stroke engine in hindi- मोटर वाहनों के इंजन साल दर साल बदलते गए है लेकिन आज भी दो मुख्य गैसोलीन संचालित इंजन प्रयोग में लाये जाते है 2-स्ट्रोक और 4-स्ट्रोक। लेकिन क्या आपको पता है की क्या अंतर होता है 2-स्ट्रोक और 4-स्ट्रोक इंजन में? लेकिन उससे पहले कुछ मुख्य बाते आपको जाननी चाहिए जिससे आप इन दोनों के बीच का अंतर समझ सके- What is engine stroke? सबसे पहले हमको जानना होगा कि एक इंजन में Engine stroke क्या होता है? इंजन के दहन चक्र (combustion cycle) के दौरान, पिस्टन सिलेंडर के भीतर ऊपर और नीचे चलता रहता है। पिस्टन जब सिलिंडर के सबसे ऊपर होता है तो उसे TDC(Top dead centre) और जब

कारो में EBD (Electronic Brake Force Distribution) क्या होता है?

EBD Electronic-Brake-Force-Distribution www.askmeauto.com

जब भी आप खरीदने की सोचते है तो आप आपसे से कुछ लोग केवल और केवल कार की कीमत, मैन्युफैक्चरर कम्पनी और माईलेज की तरफ ज्यादा ध्यान देते है, आपमे से बहुत कम लोग सेफ्टी फीचर्स की तरफ ध्यान देते है. आजकल कारो में बहुत से नए सेफ्टी फीचर्स आने लगे है जैसे ABS[ Anti-lock braking system, एयरबैग्स, TCS[traction control system] और EBD [Electronic Brake Force Distribution] आदि प्रमुख है. इस आर्टिकल में हम बतायेगे EBD [Electronic Brake Force Distribution] क्या है और यह काम कैसे करता है. जब आप कभी कार में ब्रेक लगाते है तो साधारण कार के चारो पहियों में एकसाथ ब्रेक लगते है और एकसाथ रुकते है. लेकिन हर समय कार का वजन एक सा नही रहता कभी

क्या है BS-IV और BS-VI इंजन और क्या है दोनों के बीच अंतर

BS-IV-vs-BS-VI-www.askmeauto.com

आजकल कई वाहन निर्माता कंपनी अपने BS-IV वाहनों पर भारी छूट दे रही है ऐसे में क्या आपको BS-IV वाहन लेना चाहिए या फिर नए साल में BS-VI वाहन लेना चाहिए. सबसे पहले हम जानते है की आखिर क्या है BS-IV और BS-VI इंजन भारत में जितनी भी गाडिया बनती है या सडको पर चलती है उनके द्वारा उत्सर्जित प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए एक नियम बनाया है  जिसे Bharat Stage Emission Standards (BSES) कहते है यह केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, पर्यावरण और वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के समीक्षाओ के तहत, वाहन निर्माताओं को हर स्टेज में प्रदूषण को कम करने के लिए  निर्देशित करती है. BS-IV आखिर है क्या- BS-IV जिसका पूरा नाम भारत स्टेज

क्या होता है कारो में FWD,RWD,AWD और Four wheel drive

What is drive train and its types FWD,AWD,AWD,Four Wheel Drive

आप road पर कई वाहन देखते होंगे और सभी वाहनों का काम अलग अलग होता है इनमे से कुछ सवारी गाडी होती है और कुछ माल ढुलायी के काम आती है इस वाहनों में ज़रूरत के अनुसार इंजन की पोजीशन और इंजन की क्षमता रखी जाती है और इसी के साथ बदलती है इनकी Powertrain तो इस लेख में हम आपको बतायेगे की वाहन में Powertrain क्या होती है और Powertrain के कितने प्रकार होते है- Read Also: कार खरीदने से पहले ध्यान देने योग्य 5 बाते एक स्टैण्डर्ड वेहिकल में गाड़ी को चलाने के लिए जो पॉवर चाहिए वह इंजन प्रदान करता है और इसी पॉवर से गाडी चलती है, इंजन की पॉवर को wheel तक पहुचाने के लिए

कार खरीदने से पहले ध्यान देने योग्य 5 बातें

What Should You Consider When Buying a Car?

वैसे तो भारत का  ऑटोमोबाइल सेक्टर अभी मंदी की चपेट में है लेकिन वर्ष 2020 में कुछ शानदार कारे मार्किट में लांच हो रही है. ऐसे में कई लोग साल 2020 का इंतज़ार कर रहे है नयी कार खरीदने के लिए. इस लेख में जानिए वह कौन सी 5 प्रमुख बाते है जो आपको कार लेने से पहले ध्यान में रखना चाहिए- 1.बजट- कोई भी कार खरीदने से पहले आपको अपना बजट बनाकर चलना चाहिए कि आप कितने तक की कार लेना चाहते है, उसी बजट के हिसाब से आपको थोड़ी रिसर्च करनी चाहिए कि कौन सी कार आपके बजट के अनुसार है अधिकतर लोग नगद देकर कार नही खरीदते

[Hindi] 5 Road safety tips for safe driving

askmeauto.com

ड्राइविंग करना किसे नही पसंद ड्राइविंग अपने आप में एक बेहतरीन अनुभव है लेकिन थोड़ी सी भी लापरवाही एक गंभीर दुर्घटना का कारण बन सकती है भारत में हर घंटे लगभग 17 व्यक्तियों की असमय मौत सड़क दुर्घटनाओ में हो जाती है जिसमे वाहन चालको की लापरवाही भी  एक बड़ा कारण है आज के इस लेख में हम आपको सुरक्षित ड्राइविंग के लिए 5 Road safety tips बतायेगे इसका पालन करके आप दुर्घटनाओ से बच सकते है- 5 Road safety tips for safe driving- 1.अल्कोहल का सेवन करके गाडी न चलाये- भारत में सड़क दुर्घटनाओ में अल्कोहल का सेवन करके वाहन चलाना एक प्रमुख कारण है बहुत

[Hindi] What is a Turbocharger and How Does It Work?

what-is-turbocharger-in-hindi

हम सब ने Turbocharger के बारे में सुना है, टर्बोचार्जर एक वाहन के इंजन से जुड़ा एक उपकरण है जिसे इंजन की  दक्षता में सुधार करने और प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए बनाया  गया है। यही कारण है कि कई ऑटो निर्माता अपने वाहनों को टर्बोचार्ज इंजन चुन रहे हैं। Turbocharger काम कैसे करता है- Turbocharger का सिद्धांत बहुत ही सरल है इसमें एक टर्बो एक शाफ्ट से जुड़कर दो हिस्सों से बना होता है। एक तरफ, हॉट एग्जॉस्ट गेस टरबाइन को स्पिन करता है जो दूसरे टरबाइन से जुड़ा होता है जो कि हवा को चूसता है और इसे इंजन में कंप्रेस करता है। यह कम्प्रेस हवा, इंजन को अतिरिक्त शक्ति और दक्षता देती है क्योंकि Turbocharger

Top