You are here
Home > Blogs > क्या है BS-IV और BS-VI इंजन और क्या है दोनों के बीच अंतर

क्या है BS-IV और BS-VI इंजन और क्या है दोनों के बीच अंतर

BS-IV-vs-BS-VI-www.askmeauto.com

आजकल कई वाहन निर्माता कंपनी अपने BS-IV वाहनों पर भारी छूट दे रही है ऐसे में क्या आपको BS-IV वाहन लेना चाहिए या फिर नए साल में BS-VI वाहन लेना चाहिए. सबसे पहले हम जानते है की आखिर क्या है BS-IV और BS-VI इंजन

भारत में जितनी भी गाडिया बनती है या सडको पर चलती है उनके द्वारा उत्सर्जित प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए एक नियम बनाया है  जिसे Bharat Stage Emission Standards (BSES)

Advertisement
कहते है यह केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, पर्यावरण और वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के समीक्षाओ के तहत, वाहन निर्माताओं को हर स्टेज में प्रदूषण को कम करने के लिए  निर्देशित करती है.

BS-IV आखिर है क्या-

BS-IV जिसका पूरा नाम भारत स्टेज 4 है सामान्यता उत्सर्जन की एक स्टेज है,जैसे यूरोपीय देशो में यूरो-4,5 या 6 होता है जैसे जैसे हम BS स्टेज में आगे बढ़ते है, वाहन में उत्सर्जित हानिकारक गैसों की मात्रा कम होती जाती है

केंद्र सरकार की गाइड लाइन के अनुसार सभी वाहन निर्माताओ को अगले साल 1 अप्रैल 2020 से वाहनों में BS-VI इंजन देना अनिवार्य हो गया है. 1 अप्रैल 2020 से कोई भी BS-IV वाहन की मैन्युफैक्चरिंग और पंजीकरण नही हो पायेगा. इसीलिए कई वाहन निर्माता अपनी कारो में या दुपहिया वाहनों में भारी छूट दे रहे है.

Read Also: कार खरीदने से पहले ध्यान देने योग्य 5 बातें

BS-VI क्या है और क्या फायदे है इसके-       

BS-VI का पूरा नाम भारत स्टेज 6 है हम BS-V को पूरी तरह स्किप करते हुए BS-VI में आ गए है जो एक शानदार बात है. अभी तक जो BS-VI इंजन प्रयोग किया जाता था उसमे सल्फर की मात्रा अधिक होती थी जिससे उत्सर्जित Particulate Matter (PM) Limit की मात्रा ज्यादा निकलती थी जो कि एक बड़ा कारण था वायु प्रदुषण का और साथ ही साथ यह मानव स्वास्थ्य के लिए अधिक हानिकारक था 

BS-VI में वाहन निर्माता एक एडवांस उत्सर्जन कंट्रोल किट तथा अन्य टूल्स का प्रयोग करेगे जिससे डीजल वाहनों में 70 प्रतिशत और पेट्रोल वाहनों में 25 प्रतिशत तक उत्सर्जन में कमी आयेगी. इसके अतिरिक्त BS-VI वाहनों में प्रयोग होने वाला फ्यूल भी अलग होगा जिसमे सल्फर की मात्रा कम होगी.

  BS-IV और BS-VI वाहनों से उत्सर्जित प्रदूषण में अंतर आप इस टेबल से जान सकते है-

ईधन का प्रकार प्रदूषक गैसें BS-IV BS4 BS-VI BS6
Petrol Passenger Vehicle Nitrogen Oxide (NOx) Limit <80mg> <60mg>
Petrol Passenger Vehicle Particulate Matter (PM) Limit <4.5mg/km
Diesel Passenger Vehicle Nitrogen Oxide (NOx) Limit <250mg> <80mg>
Diesel Passenger Vehicle Particulate Matter (PM) Limit <25mg> <4.5mg/km

अगले साल 1 अप्रैल 2020 से BS-IV वाहनों का पंजीकरण बंद हो जायेगा इसलिए कई कार और दुपहिया वाहन निर्माता अपने वाहनों में भरी छूट दे रहे है. लेकिन अगर आप इन कारो या दुपहिया गाडियों को 1 अप्रैल 2020 से पहले तक खरीदते है तो कोई दिक्कत नही होगी क्युकी इनका पंजीकरण 1 अप्रैल 2020 के बाद ही निषेध होगा.

वैसे वर्ष 2019 में ही कई शानदार कारे लांच हुई है जो BS-VI इंजन से लैस है-

Read Also: Tata Motors की प्रीमियम हैचबैक Altroz लांच होने को है तैयार

BS6 Cars Available in India 2019:

  • Maruti Suzuki Dzire
  • Hyundai Elantra
  • Maruti Suzuki Alto 800
  • Hyundai Grand i10 Nios
  • Maruti Suzuki Baleno
  • Toyota Glanza
  • Maruti Suzuki Ertiga
  • Kia Seltos
  • Jeep Compass
  • Maruti Suzuki S-Presso
  • Maruti Suzuki XL6

 

Top